भारत के माननीय उपराष्ट्रपति ने काबुल में हुए हमले की निन्दा की

नई दिल्ली
मई 31, 2017

मैं काबुल में हुए आतंकी हमले के बारे में जानकर स्तब्ध हूं जिसमें कई निर्दोष नागरिक मारे गए और घायल हुए।

हिंसा के ऐसे निर्मम कृत्यों का कोई औचित्य नहीं हो सकता। दोषी व्यक्तियों और उनका समर्थन करने और उनको संरक्षण देने वाले व्यक्तियों को मानवता के विरुद्ध इस अपराध के लिए दंडित किया जाना चाहिए।

भारत शांतिपूर्ण, सुरक्षित और समृद्ध अफगानिस्तान के निर्माण के लिए प्रतिबद्ध है। भारत की जनता दु:ख की इस घड़ी में अफगानिस्तान के लोगों के साथ है।

मैं शोकसंतप्त परिवारों को अपनी शोक संवेदना प्रस्तुत करता हूं। मैं दिवंगतों की आत्मा की शांति और घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ के लिए राष्ट्र के साथ प्रार्थना में शामिल हूँ।